क्रिकेट

परिवार से दूर रहने पर दबाव में आ जाएंगे आईपीएल खिलाड़ी, बीसीसीआई उठाएगी ये कदम

Summary

परिवार से दूर रहने पर दबाव में आ जाएंगे खिलाड़ी? 19 सितंबर से शुरू हो रहा है आईपीएल 2020 (IPL 2020), दुबई में खेले जाएंगे मैच नई दिल्ली. भारतीय क्रिकेट बोर्ड (BCCI) कोविड-19 महामारी के कारण इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) […]

IPL 2020: अब धोनी की गोद में नहीं दिखेगी बेटी जीवा, बीसीसीआई लेगी बड़ा फैसला!


परिवार से दूर रहने पर दबाव में आ जाएंगे आईपीएल खिलाड़ी, बीसीसीआई उठाएगी ये कदम

परिवार से दूर रहने पर दबाव में आ जाएंगे खिलाड़ी?

19 सितंबर से शुरू हो रहा है आईपीएल 2020 (IPL 2020), दुबई में खेले जाएंगे मैच

नई दिल्ली. भारतीय क्रिकेट बोर्ड (BCCI) कोविड-19 महामारी के कारण इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के आयोजन को लेकर खिलाड़ियों और सहयोगी सदस्यों के लिए मानसिक स्वास्थ्य जागरुकता हेल्पलाइन पर चर्चा कर रहा, जिसमें जैव-सुरक्षित माहौल में कई सप्ताह तक रहने से जुड़ी चुनौतियों के बारे में बताया जाएगा. हेल्पलाइन नंबर शुरू करने पर अगर बात बनती है तो बोर्ड इसे 19 सितंबर से यूएई (संयुक्त अरब अमीरात) में शुरू होने वाले 13वें सत्र के लिये मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) का हिस्सा बना सकता है. अगर जरूरत पड़ी तो ऐसी हेल्पलाइन उन्हें (खिलाड़ी, सहयोगी सदस्य) तनाव और चिंता से बेहतर तरीके से निपटने में मदद कर सकती हैं. बीसीसीआई रविवार को संचालन समिति की बैठक के बाद सभी आठ फ्रेंचाइजी के लिए एक व्यापक एसओपी जारी करने के लिए तैयार है, जहां अंतिम कार्यक्रम पर मुहर लगेगी.

परिवार से दूर रहने पर दबाव में आ सकते हैं खिलाड़ी!
कुछ आईपीएल टीमों को लगता है कि ज्यादा वक्त तक अपने परिवार से दूर रहने के चलते खिलाड़ी दबाव में भी रह सकते हैं. फ्रेंचाइजियों ने भी इस सवाल को उठाया है. बीसीसीआई इस बैठक में इस मुद्दे का कोई हल निकाल सकता है. इसकी जानकारी रखने वाले एक सूत्र ने गोपनीयता की शर्त पर पीटीआई-भाषा से कहा, ‘ बीसीसीआई की एसओपी में खिलाड़ियों और सहायक कर्मचारियों के लिए चिकित्सा सुविधाओं का पूरा विवरण होने की संभावना है. यह उम्मीद की जाती है कि एक हेल्पलाइन होगी जहां खिलाड़ी तनाव और चिंता महसूस करने की स्थिति में मदद ले सकते हैं. विशेषज्ञ की ऐसी मदद सबके लिए होगी.’

बीसीसीआई के इस कदम से फ्रेंचाइजी खुशएक फ्रेंचाइजी टीम के अधिकारी ने कहा, ‘ अगर बीसीसीआई के पास मानसिक स्वास्थ्य से निपटने के लिए हेल्पलाइन है, तो यह एक स्वागत योग्य और सही दिशा में उठाया गया कदम है. यह समय की जरूरत है. ‘ कोरोना वायरस की जांच को लेकर हालांकि अभी तक स्थिति साफ नहीं है. उम्मीद है कि ज्यादातर टीमें दिल्ली, मुंबई, बेंगलुरु और चेन्नई में अपने खिलाड़ियों की जांच करवायेगी जहां से वे यूएई के लिए उड़ान भरेंगे. एक फ्रेंचाइजी ने बताया कि वह खिलाड़ियों की जांच के लिए चिकित्सा कर्मियों को उनके घर भेजने की योजना बना रहा है.

बीसीसीआई के एक अन्य सूत्र ने कहा, ‘ मुंबई जैसे कुछ शहरों में खिलाड़ियों को व्यक्तिगत परीक्षण करने जाने पर खतरे का सामना करना पड़ सकता है. इसलिए एक फ्रेंचाइजी ने फैसला किया है कि खिलाड़ी के गृह शहर में ही जांच करवाने के बाद जहां से दुबई प्रस्थान करना है वहां बुलाया जाए. ‘ मीडिया कवरेज को लेकर अभी कोई स्पष्टता नहीं है. अधिकारी ने कहा, ‘खिलाड़ी चार्टर्ड फ्लाइट से यात्रा करेंगे लेकिन फिलहाल मीडिया के लिए कोई योजना नहीं है. जब तक भारत से विदेशों के लिए वाणिज्यिक उड़ान शुरू नहीं होती तब तक इसकी संभावना कम है कि वहां मीडिया की पहुंच होगी. ‘





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *